पैरामिलिट्री में ट्रांसजेंडर के लिए भी मौका

Transgenders in paramilitary

Transgenders in Paramilitary – पैरामिलिट्री फोर्स में अभी तक महिलाओं और पुरुषों को ही नौकरी करने का मौका दिया जाता था। लेकिन अब पैरामिलिट्री में ट्रांसजेंडर को भी इस फील्ड में काम करने के अवसर मिल सकेंगे। बता दें कि गृह मंत्रालय ने पैरामिलिट्री फोर्स में अब ट्रांसजेंडर को अवसर देने के लिए सुरक्षा बलों की राय मांगी है। यदि सुरक्षा बलों की तरफ़ से इस बारे में कोई सकारात्मक रुख आता है तो फिर ट्रांसजेंडर को भी पैरामिलिट्री फोर्स में देखा जा सकेगा।

सशस्त्र सीमा बल ने मांगी देश भर की सभी फॉर्मेशन से उनकी राय

असिस्टेंट कमांडर रैंक की अपॉइंटमेंट के लिए सरकार चाहती है कि ट्रांसजेंडर की नियुक्ति (Transgenders in Paramilitary) डायरेक्ट हो। इसीलिए गृह मंत्रालय ने सीएपीएफ को लेटर लिखकर उनसे जल्दी ही उनका सुझाव मांगा है। सरकार द्वारा लिखे गए लेटर में एसएसबी यानी सशस्त्र सीमा बल की सभी फॉर्मेशन से जल्द ही इस बारे में उनका नज़रिया पूछा है। अगर सभी फॉर्मेशन ने ट्रांसजेंडर की नियुक्ति पर कोई आपत्ति नहीं जताई तो फिर देश की सुरक्षा में यह भी अपना सहयोग कर सकेंगे। मेल/फीमेल के अलावा यह भी देश की फोर्स का हिस्सा बन सकेंगे।

पैरामिलिट्री फोर्स सँभालती है सुरक्षा की महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारियाँ

बता दें कि गृह मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाली फोर्स में आईटीबीपी, एसएसबी, सीआरपीएफ, बीएसएफ आदि शामिल है जिनकी तैनाती देश के महत्वपूर्ण ठिकानों पर होती है। जिनमें बांग्लादेश, पाकिस्तान, चीन तथा नेपाल की सीमाएं शामिल है। जम्मू कश्मीर में आतंकवाद को रोकने के लिए भी यह बहुत महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। इसके अलावा इनकी नियुक्ति कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए भी विभिन्न राज्यों में होती है। अगर इन सुरक्षा बलों में ट्रांसजेंडर को शामिल किया जाता है तो यह एक मज़बूत कदम होगा।

लाखों ट्रांसजेंडर हैं आर्थिक गतिविधियों से वंचित

भारत में चार लाख से भी ज़्यादा ट्रांसजेंडर है लेकिन 92% किसी भी तरह की आर्थिक गतिविधियों में भाग लेने से हमेशा वंचित रह जाते हैं। लेकिन अब सरकार गंभीरता से देश के सभी ट्रांसजेंडर के बारे में विचार कर रही है। ध्यान देने योग्य बात है कि देश में 10 जनवरी 2020 को ट्रांसजेंडर पर्सन एक्ट लागू कर दिया गया है, जिसके अंदर कई बड़ी योजनाएं शुरू करने के बारे में निर्णय लिया जाएगा। इसके अलावा अन्य सरकारी विभागों में भी उनको नौकरी का मौका दिया जाएगा।

हर साल होती है भर्ती

ध्यान देने योग्य बात है कि हर साल संघ लोक सेवा आयोग यानी यूपीएससी में परीक्षा के ज़रिए बीएसएफ, सीआरपीएफ, आइटीबीपी, एसएसपी के पदों की नियुक्ति की जाती है। इस साल इन परीक्षाओं का नोटिफिकेशन 18 अगस्त 2020 को आएगा। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि इस बार यूपीएससी के एप्लीकेशन फॉर्म में ट्रांसजेंडर के लिए भी जगह होगी, परंतु अभी सुरक्षा बलों की प्रतिक्रिया का इंतजार है। यदि इनकी सहमति आती है तो फिर महिलाओं और पुरुषों के अलावा इस थर्ड जेंडर को भी यूपीएससी एप्लीकेशन फॉर्म में स्थान मिलेगा।

अगर आपको किसी भी तरह की कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप यूपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट https://www.upsc.gov.in/ पर जाकर देख सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here